पेट्रोलियम

यह गहरे रंग का तरल द्रव है. यह जल से हल्का सा इसमें अविलेय है. यह समुंदरी पेड़ पौधों और जानवरों के, उच्च ताप व दाब पर, अपघटन होने के कारण बना है. यह प्रक्रिया हजारों सालों में संपन्न हुई है. पेट्रोलियम का प्रभाजी आसवन के फलस्वरूप पेट्रोलियम गैस, पेट्रोल, डीजल, केरोसिन, मॉम, रेजिन,  आदि उत्पाद होते हैं. जो विभिन्न प्रकार से प्रयोग में लाए जाते हैं

Your Comment


Write First Comment Here