भारत में लौह अयस्क उत्पादक राज्य

सर्वाधिक लौह अयस्क भण्डार वाले भारत के तीन राज्य

  1. कर्नाटक
  2. ओड़िशा
  3. झारखण्ड

सर्वाधिक लौह अयस्क उत्पादन वाले भारत के तीन राज्य

  1. ओड़िशा
  2. कर्नाटक
  3. झारखण्ड
  • देश का सबसे बड़ा लौह अयस्क क्षेत्र बरामजादा समूह के नाम से जाना जाता है। यह एक चट्टानी समूह है तथा झारखण्ड एवं उड़ीसा के सीमावर्ती जिलों में फैला हुआ है। इसके अंतर्गत झारखण्ड का सिंहभूम जिला तथा उड़ीसा का क्योंझर जिला आता है।
  • भारत में लौह अयस्क की प्राप्ति धारवाड़ क्रम या कुडप्पा क्रम की आग्नेय चट्टानों से होती है।
  • भारत अपने लौहे का अधिकांश भाग जापान को तथा दूसरे स्थान पर चीन को निर्यात करता है।

भारत के प्रमुख लौह अयस्क क्षेत्र –

उड़ीसा

  1. मयूरभज जिला – गुरूमहिसानी एवं बादाम पहाड़ी क्षेत्र।
  2. क्योंझर जिला – ये पूर्णतः बरामजादा समूह के अंतर्गत आता है।

झारखण्ड

  1. सिंहभूम जिला – पसिराबुरू एवं नोवामण्डी क्षेत्र। ये दोनों ही बरामजादा समूह के अंतर्गत आता है।

छत्तीसगढ़

  1. दुर्ग जिला – दल्ली राजहरा।
  2. दान्तेवाड़ा जिला – बैलाडिला।

कर्नाटक

  1. चिकमंगलूर जिला – कुद्रेमुख पहाड़ी, बाबाबूदन पहाड़ी।
  2. बेल्लारी जिला – सन्दूर पहाड़ी।

तमिलनाडु

  1. सलेम

केरल

  1. कोझीकोड़

गोवा

महाराष्ट्र

  1. रत्नागिरी जिला

Your Comment


Write First Comment Here