उप-सहसंयोजक बंध को परिभाषित करें

दो परमाणुओं के मध्य दो इलेक्ट्रॉनों की साझेदारी द्वारा जब एक रासायनिक बंध इस प्रकार बनता है कि साझे के दोनों इलेक्ट्रॉन उनमें से एक परमाणु के द्वारा दिए जाए तो इस प्रकार के बंन्ध को ऊप - सहसंयोजक बंध कहते हैं. राज्य में इलेक्ट्रॉन देने वाले परमाणु को दाता परमाणु तथा दूसरे परमाणु को ग्राही परमाणु कहते हैं.

More Questions

गुजरात का राज्य स्तरीय अधिकारी कौन है?

गुजरात

लोक जनशक्ति पार्टी का चुनाव चिन्ह क्या है?

बदला (बिहार)

जल यौगिक है चूँकि

यह रसायनिक बंन्धों से जुड़े दो विभिन्न तत्वों रखता है.

न्यूट्रॉन क्या है?

न्यूट्रॉन की खोज 1932 में जेम्स चैडविक नामक वैज्ञानिक ने की थी.

न्यूट्रॉन विद्युत उदासीन कण है.

इसका द्रव्यमान हाइड्रोजन परमाणु के द्रव्यमान के लगभग बराबर होता है.

एक बड़ी पत्र में जो बिकर रखे हैं.  एक में AGNO3 का विलियन तथा दूसरे में NACI  का विलियन है. पात्र को तोल लेते हैं,. फिर भी करके विलियन को आपस में भली प्रकार मिला देते हैं पात्र को पुनः तोल लेते हैं. बाद का द्रव्यमान

पहले से बराबर ही रहता है

बॉयल का नियम क्या है?

किसी निश्चित आप पर किसी गैस के निश्चित द्रव्यमान का आयतन उसके दाग के व्युत्क्रमानुपाती होता है.

भारत का उच्च न्यायालय कानून या तथ्य के मामले में राष्ट्रपति को परामर्श देता है?

तभी जब राष्ट्रपति से परामर्श के लिए कहता है

सहसंयोजक यौगिक बहुधा अधिक विलेय होते हैं

कार्बनिक विलायको में

राज्य सरकार को कौन भंग कर सकता है?

राज्यपाल की सिफारिश पर राष्ट्रपति

भोजन में आयोडीन की कमी से होता है

घेघा

Your Comment


Write First Comment Here

Latest Question